शुक्रवार, 9 दिसंबर 2011

पुलिस में नौकरी

हे प्रभु एक विनती है तुमसे
मोकु अगला जनम ना दीजो
अगर भाग्य में जनम लिखा हो
पुलिस में नौकरी दिलवा दीजो

ना ही चाहूँ सोना चांदी
ना ही चाहूँ महल दुमहले
बस एक डंडा दिलवा दीजो
पुलिस में नौकरी दिलवा दीजो

पुलिस में नौकरी दिलवा दीजो............

चोर डाकू कोई पकडूं नाही
रोज मै पूजूँ अफसरशाही
चाय पानी लेकर छोडन का
मोकु लाइसेंस दिलवा दीजो

पुलिस में नौकरी दिलवा दीजो..........

अफसर बनना मै ना चाहूँ
कोई पदौन्ती मै ना पाऊं
पर मेरी नियुक्ति तो प्रभु
लाल बत्ती इलाके करवा दीजो

पुलिस में नौकरी दिलवा दीजो.............

रिश्ते नाते कोई ना चाहूँ
घरवालों की बंदिश ना पाऊं
चाहूँ तो बस इतना चाहूँ
बिन कटोरी बिन भीख के
मांगना मुझको सिखला दीजो

पुलिस में नौकरी दिलवा दीजो.........
एक टिप्पणी भेजें