गुरुवार, 30 अक्तूबर 2014

विडंबना

मानव सभ्य है या असभ्य
यदि सभ्य है
तो क्या ज़रुरत
संविधान और कानून की

यदि असभ्य है
तो क्या ज़रुरत
संविधान और कानून की

सभ्य समाज
संविधान, कानून
नियंत्रण और कचेहरी

अजब विडंबना है
एक टिप्पणी भेजें