रविवार, 5 जनवरी 2014

चंद विचार

बहता पानी और नए नए विचार स्वास्थ्य और समाज दोनों के लिए लाभदायक है ..........

कुछ पाना है तो जो हाथ में पकडे हो उसे छोड़ो .....

जीवन में नियम उतने ही महत्वपूर्ण हैं जितना नदी को नदी कहलाने में दो किनारे ...........

दुर्बल मानसिकता वाला व्यक्ति सबसे अधिक शारीरिक बल रखने वाले व्यक्ति से अधिक खतरनाक है ......

नारी नारी के शोषण की अग्रणी है ........

दुःख का कारण दुःख नहीं सुख की आशा है ...........

जब चाह थी राहें न मिली, अब राह हैं , हम चलने के काबिल नहीं ........... 
एक टिप्पणी भेजें