बुधवार, 26 जनवरी 2011

विचार

जब हम हम थे, तब गम ना थे
अब जब गम हैं, तब हम ना हैं

 
एक टिप्पणी भेजें